पर्यावरण की सुरक्षा में लगे लोगों को ‘प्रकृति मित्र सम्मान’

gabapentin and muscle spasms Yemva ivermectin tablets for humans in canada पेड़ बचाने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं : कर्नल अक्षय

https://fairytalefinancial.com/40756-soolantra-cream-amazon-9119/  

https://bethelconstruction.in/21-cat/casino_47.html पेड़ काटने की गलती की भरपाई की जिम्मेदारी हमारी पीढ़ी पर है। अगर इस पीढ़ी ने यह जिम्मेदारी नहीं निभाई, तो उनकी अगली पीढ़ी को यह काम करना होगा। इससे बच नहीं सकते। इसका कोई विकल्प नहीं है। ये बातें कर्नल अक्षय यादव ने रविवार को प्रकृति मित्र द्वारा आयोजित सम्मान समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए कहीं। कर्नल यादव ने प्रकृति मित्र के साथियों द्वारा पौधरोपण के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की और कहा कि इन प्रयासों से कंक्रीट के जंगल में हरियाली लौटेगी।

soolantra generic cost इन्हें दिया गया प्रकृति मित्र सम्मान

‘प्रकृति मित्र ‘ संस्था द्वारा बिहार के विभिन्न स्थानों में जल संरक्षण, पौधरोपण, पुराने वृक्षों की सुरक्षा, टेरेस गार्डन को प्रोत्साहन, ऑर्गेनिक खेती आदि के क्षेत्र में कार्य करने वाले प्रकृति प्रेमियों को पौधा, शॉल और प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया। सम्मान पाने वालों में बिहार पुलिए अकादमी, राजगीर के उपनिदेशक डीआईजी प्राणतोष कुमार दास, तरुमित्र के डॉ. फादर रॉबर्ट एथिकल, पॉलीथिन हटाओ अभियान चलाने वाले पत्रकार डॉ. प्रणय प्रियंवद, देवोप्रिया दत्ता, 30 वर्षों से लाखों पेड़ लगा चुके समाजसेवी संजीव कुमार यादव, पटना वीमेंस कॉलेज की शिक्षिका यामिनी, टेरेस गार्डन के क्षेत्र में कार्य करने वाले मनोरंजन सहाय, संजीव कुमार झा, तारकेश्वर पांडेय, सुधीर सिन्हा शामिल हैं।

युवा पर्यावरण संरक्षण को लेकर संवेदनशील

सम्मान पाने के बाद समारोह को संबोधित करते हुए प्राणतोष कुमार दास ने कहा कि इस समारोह में एनसीसी कैडेट्स की उपस्थिति यह बताती है कि आज के युवा पर्यावरण संरक्षण को लेकर संवदेनशील हैं। उन्होंने युवाओं को प्रण दिलाया कि एक साल के अंदर प्रदेश भर में प्रकृति मित्र के माध्यम से एनसीसी कैडेट्स एक लाख पौधे लगाएंगे।

सम्मानित लोगों के कार्यों के मुकाबले यह सम्मान छोटा

इससे पूर्व अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रकृति मित्र के संयोजक डॉ. शंभु कुमार सिंह ने कहा कि जिन लोगों को आज सम्मानित किया गया है, उनके कार्यों के मुकाबले यह सम्मान छोटा है। डॉ. सिंह ने प्रकृति मित्र द्वारा प्रदेश भर में चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी दी और भविष्य की योजनाओं की रूपरेखा साझा की। मंच संचालन श्वेता सुरभि ने और धन्यवाद ज्ञापन जयप्रकाश शर्मा ने किया। कार्यक्रम में एनसीसी उड़ान के बच्चे भी शामिल हुए। प्रकृति मित्र कोर कमिटी में सदस्य प्रशान्त रंजन, जयशंकर प्रसाद भी उपस्थित थे।

Leave a Comment