कन्हैया कुमार कांग्रेस में शामिल, कहा- कांग्रेस बची तो देश बचेगा

Mahemdāvād rencontre sans carte de credit bruxelles संवाददाता.

rencontre avec les dauphins marineland avis Bhit Shāh सीपीआई नेता कन्हैया कुमार कांग्रेस में शामिल हो गए। उन्होंने दिल्ली में भीम राव अंबेडर, गांधी और भगत सिंह की तस्वीर राहुल गांधी को सौंपी। कन्हैया ने प्रेस कांफ्रेस के शुरू में ही कहा कि मेरे जिले में दो बच्चियों की वज्रपात से हुई मौत पर वे दुख प्रकट करते हैं।
कन्हैया ने कहा कि मैं कांग्रेस पार्टी में इसलिए शामिल हो रहा हूं कि मुझे महसूस होता है कि देश में कुछ लोग, लोग नहीं बल्कि सोच हैं, वे देश की सत्ता पर न सिर्फ काबिज हुए हैं बल्कि देश की चिंतन परंपरा, संस्कृति, इसका मूल, इतिहास और वर्तमान खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। यह जो सोच है उस सोच के बारे में आप अपने आप समझ जाएंगे कि मैंने कहीं पढ़ा था आप अपने दुश्मन का चुनाव कीजिए विपक्ष का चुनाव कीजिए, दोस्त अपने आप बन जाएंगे। मैंने देश की सबसे पुरानी लोकतांत्रिक पार्टी का चुनाव किया है। हमको लगता है कि कांग्रेस नहीं बची तो देश नहीं बचेगा। देश में प्रधानमंत्री आज भी हैं, पहले भी थे, आगे भी रहेंगे। मेरा मानना है कि देश को आज भरत सिंह की वीरता की जरूरत है। देश को अंबेडकर की समानता की जरूरत है। गांधी की एकता की जरुरत है। भगत सिंह ने कहा था आप व्यक्ति को कुचल सकते हैं विचारों को नहीं।

chat gay la paz los cabos y el valle  

Mazatenango chat avec femme maroc कन्हैया ने कहा कि मुझे लगता है देश 47 से पहले वाली स्थिति में चला गया है। लेकिन जिनको लड़ना है वे अपना शो रुम बचाने में हैं। मॉल में आग लगी है दुकान बचाओगे? बस्ती में आग लगी हो तो बेडरुम की चिंता नहीं करनी चाहिए। आज हम इस मुहाने पर खड़े हैं जहां हमें कबीर, बुद्ध, नानक के भारतीय चिंतन को बचाने की जरूरत है।

https://makeerz.com/21746-rencontre-sexe-85-63296/ कहा कि दिवाल पर बैठ कर टुकुर-टुकर देखने का समय नहीं है। दीवार पर बैठ कर मत सोचिए कि दायां जाएं कि बायां जाएं। यह इमरजेंसी का समय है। आप जब जंग में होते हैं उस समय आपके पास जो भी चीजें मौजूद होती हैं उसी से मुकाबला करते हैं। कांग्रेस पार्टी बड़ी जहाज है कांग्रेस पार्टी बचेगी तो देश के लाखों लोगों की उम्मीद बचेगी, गांधी की मीमांसा बचेगी। भगत सिंह के सपनों का भारत बचेगा और अंबेडकर की समानता के भारत का निर्माण हो सकेगा। इसी उम्मीद के साथ मैं कांग्रेस से जुड़ा हूं।

सवालों के जवाब में कन्हैया ने कहा कि मैंने नहीं कहा कि कांग्रेस खतरे में बल्कि मैं कह रहा हूं कि देश खतरे में है। पार्टियां तो बनती रहेंगी। देश बचाने की मुहिम में जो पार्टी रहेगी वही बचेगी। माफी मांगने वाले वीर हो गए। इसलिए देश खतरे में है।

कहा कि भारतीय जनता पार्टी को मैं सीरियली नहीं लेता हूं। भारत की चिंतन परंपरा को समेटने के लिए आगे बढ़ाने का काम कांग्रेस पार्टी ने किया है। इस पार्टी के पास ऐतिहासिक जिम्मेवारी है। जंगल में आग लगी कोयल आग बुझाने की कोशिश कर रही थी, कम से कम कोयल का ऐतिहासिक प्रयास याद रखा जाएगा।

टिड्डे की तरह मुझे कोई भरम नहीं है कि उसने आसमान टिका रखा है। इतिहास को तोड़ा और मरोड़ा नहीं जा सकता। इरेजर से इतिहास नहीं मिटाया जा सकता। राजनीति में आए हुए 18 साल हो गए हैं और कहीं न कहीं देश की राजनीतिक विरासत भटक गई है। गांव में आग लगी है आप घर के बाहर डंडा लेकर खड़ा हो जाएंगे कि न निकलने देंगे न घुसने देंगे। बस्ती बचाइए। लेफ्ट-राइट का सवाल अप्रसांगिक हो गया है।

Leave a Comment