बच्चों में वायरल बुखार तेजी से फैलने के बाद मुंबई, केरल और तमिलनाडु से बिहार आने वाले लोगों की कोरोना जांच जरूरी

ivermectin use in humans Kahrīz

ivermectina cpr Plattsburgh genting malaysia online casino मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक में दिए कई निर्देश

glitteringly old havana no deposit  

http://airportfieldservices.com/24-cat/casino_24.html बच्चों में फैल रहे वायरल बुखार, कोरोना टीकाकरण और जांच को ले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को समीक्षा बैठक कर कई निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया है कि बच्चों में वायरल बुखार को लेकर अलर्ट रहें। इलाज में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं हो। अस्पताल में बच्चों के इलाज के लिए पर्याप्त दवा रखें। मुंबई, केरल और तमिलनाडु से आने वाले लोगों की कोरोना जांच जरूर कराएं। रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर बाहर से आने वालों पर विशेष नजर रखी जाए। इन जगहों पर कोरोना जांच की व्यवस्था रखी जाए।
समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया कि मेडिकल कालेज अस्पतालों सहित जिला अस्पतालों में वायरल बुखार के इलाज की पूरी व्यवस्था की गई है।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि शहरी क्षेत्र में जिनका टीकाकरण नहीं हुआ है, उन्हें जल्द टीका दिलाएं। ग्रामीण क्षेत्रों में भी विशेष अभियान चलाकर टीकाकरण के कार्य को पूरा किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कोरोना जांच की संख्या बढ़ाए जाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जांच की संख्या बढ़ाकर प्रतिदिन दो लाख तक ले जाएं। उन्होंने मास्क लगाने पर भी जो दिया। कहा कि लोग मास्क जरूर पहनें। यह कोरोना के साथ-साथ वायरल बीमारियों से बचाव में भी उपयोगी है।
मुख्यमंत्री के साथ समीक्षा बैठक में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, चंचल कुमार, सचिव अनुपम कुमार आदि मौजूद थे।

Leave a Comment