नीतीश सरकार को अपनों ने ही घेरा, अफसरशाही से परेशान सहनी ने इस्तीफे की पेशकश की, ज्ञानू भी भड़के

http://iusevillaciudad.org/47149-paxlovid-prescription-ny-91068/  

standing order for paxlovid

नीतीश सरकार के समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी ने अपने इस्तीफा की पेशकश कर दी। दूसरी तरफ बीजेपी नेता ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू ने आरोप लगाया है कि विभिन्न विभागों में हुए ट्रांसफर- पोस्टिंग में रुपए का भारी लेन-देन हुआ है। इस तरह सरकार अपने ही लोगों के आरोपों से घिर गई है। विपक्ष ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने पहले ही कहा था कि इस सरकार में संस्थागत भ्रष्टाचार है। वह आरोप अब सच निकला।

blood sugar medications Durgapur मंत्री ने इस्तीफे की पेशकश की

अपने इस्तीफे की पेशकश करते हुए मदन सहनी ने इसका कारण अफसरशाही को बताया है। वे अपने प्रधान सचिव से नाराज चल रहे हैं। सहनी ने गुरुवार को मीडिया से बताया कि उनके विभाग में जो ट्रांसफर-पोस्टिंग मंत्री स्तर पर होना चाहिए था, उसे अफसर कर रहे हैं। कहा कि इस अपमान के साथ वे मंत्री पद पर नहीं रहना चाहते।

paxlovid buy online india glossarially सरकार में मंत्रियों तक की पूछ नहीं

सहनी ने कहा कि नीतीश सरकार में मंत्रियों की भी कोई पूछ नहीं है। अपने विभाग के प्रधान सचिव अतुल कुमार पर मंत्री ने आरोप लगाया कि चार साल से एक ही जगह जमे हैं, अब तक क्या किया, यह किसी को मालूम नहीं?  वे कुछ कहने पर सुनते ही नहीं हैं। सहनी ने कहा कि वे जेडीयू में रहेंगे और नीतीश कुमार के प्रति आस्था भी रखेंगे लेकिन मंत्री पद पर नहीं रहना चाहते।

https://parquejoyero.es/18152-order-paxlovid-online-87419/ बड़े पैमाने पर ट्रांसफर- पोस्टिंग

बिहार में जून महीने के अंत में बड़े पैमाने पर ट्रांसफर-पोस्टिंग की गई है। दो से तीन दिन के अंदर 1800 से अधिक ट्रांसफर-पोस्टिंग की जा चुकी है। इस ट्रांसफर-पोस्टिंग में सीओ से लेकर बीडियो, डॉक्टर, इँजीनियर तक शामिल हैं। अभी यह सिलसिला चलेगा।

Leave a Comment