विगत 24 घंटे में कोविड-19 के 2,163 नए मामले सामने आए हैं

paxlovid price walgreens  

  • covid 19 site official नदियों के बढ़े जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित

Łódź paxlovid prescription finder संवाददाता.

paxlovid prices Los Altos सचिव, सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार ने बताया कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार पूरी तत्परता से समुचित कार्रवाई कर रही है। कोरोना की जांच में तेजी आने से संक्रमण की दर घट रही है और रिकवरी रेट में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। आज की तिथि में रिकवरी रेट 84.07 प्रतिशत हो गया है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 8 प्रतिशत अधिक है। उन्होंने बताया कि रोजगार सृजन पर सरकार का पूरा ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 05 लाख 59 हजार 788 योजनाओं के अंतर्गत 14 करोड़ 05 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है।

subsidiarily paxlovid where buy सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 2,234 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक 1,06,765 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं। विगत 24 घंटे में कोविड-19 के 2,163 नये मामले सामने आये हैं। वर्तमान में बिहार में कोविड-19 के 19,571 एक्टिव मरीज हैं। उन्होंने बताया कि 25 अगस्त को 1,02,590 सैंपल्स की जांच की गई है और अब तक की गयी कुल जांच की संख्या 26,72,687 है।

अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि सरकार द्वारा 01 अगस्त से लागू अनलॉक-3 के तहत जारी गाइडलाइन्स का अनुपालन कराया जा रहा है। पिछले 24 घंटे में 01 कांड दर्ज किया गया है और किसी व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस दौरान 585 वाहन जब्त किये गये हैं और 19 लाख 48 हजार 200 रूपये की राशि जुर्माने के रुप में वसूल की गई है। इस प्रकार 1 अगस्त से अब तक 69 कांड दर्ज किये गए हैं और 106 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है। कुल 17,052 वाहन जब्त किए गए हैं और 04 करोड़ 52 लाख 64 हजार 270 रुपए की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर भी लगातार कार्रवाई की जा रही है। पिछले 24 घंटे में मास्क नहीं पहनने वाले 4,008 व्यक्तियों से 02 लाख 400 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। इस प्रकार 01 अगस्त से अब तक मास्क नहीं पहनने वाले 1,25,416 व्यक्तियों से 62 लाख 70 हजार 800 रूपये की जुर्माना राशि वसूल की गयी है। कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और नए दिशा-निर्देशों का पालन करने में अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।

सचिव जल संसाधन संजीव हंस ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि गंडक नदी में आज 12 बजे दिन में 1,21,500 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृत्ति घटने की है। गंगा नदी के जलस्तर में बक्सर, दीघा, गांधी घाट में क्रमषः 27 से0मी0, 13 से0मी0 एवं 10 से.मी. की वृद्धि तथा हाथीदह, मुंगेर, भागलपुर एवं कहलगांव में क्रमशः 04 सेंटीमीटर, 08 सेंटीमीटर, 05 सेंटीमीटर एवं 04 सेंटीमीटर की कमी हुई है। कोशी नदी का जलस्तर बलतारा अवस्थित गेज स्थल के पास 35.17 मीटर दर्ज किया गया, जो खतरे के निशान 33.85 मीटर से 1.32 मीटर ऊपर है। सोन नदी में आज 12 बजे दिन में 73,414 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृत्ति बढ़ने की है। बागमती नदी का जलस्तर ढ़ेंग, सोनाखान, कटौझा, बेनीबाद एवं हायाघाट गेज स्थलों पर खतरे के निशान से ऊपर है तथा डूब्बाधार एवं कनसार/चंदौली गेज स्थलों पर जलस्तर खतरे के निशान से नीचे है। कमला बलान नदी का जलस्तर जयनगर वीयर के डाउनस्ट्रीम एवं झंझारपुर रेल पुल के पास खतरे के निशान से क्रमशः 0.30 मीटर एवं 0.40 मीटर नीचे है। महानंदा नदी का जलस्तर तैयबपुर एवं ढेंगराघाट गेज स्थल पर खतरे के निशान से 1.87 मी0 एवं 1.20 मी0 नीचे है। अधवारा नदी का जलस्तर सोनवर्षा, सुंदरपुर एवं पुपरी गेज स्थल पर खतरे के निशान से नीचे है। बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर रोसरा रेल पुल एवं खगड़िया में खतरे के निशान से ऊपर है तथा सिकंदरपुर एवं समस्तीपुर रेल पुल में खतरे के निषान से नीचे है। घाघरा नदी का जलस्तर दरौली एवं गंगपुर सिसवन में खतरे के निशान से 0.22 मीटर एवं 0.35 मीटर ऊपर है।

विज्ञप्ति के अनुसार मुख्य अभियंता गोपालगंज परिक्षेत्राधीन सारण तटबंध सारण, भैसही पुरैना छरकी, बंधौली शीतलपुर फैजुल्लाहपुर जमींदारी बांध एवं बैकुंठपुर रिटायर्ड लाईन तथा मुख्य अभियंता, मुजफ्फरपुर परिक्षेत्राधीन चंपारण तटबंध के क्षतिग्रस्त भाग को छोड़कर शेष राज्य में विभिन्न नदियों पर अवस्थित तटबंध सुरक्षित हैं। जल संसाधन विभाग द्वारा सतत् निगरानी एवं चौकसी बरती जा रही है।

अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचंद्र डू ने बताया कि बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़े जलस्तर को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। नदियों के बढ़े जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित हुई हैं, जहां आवश्यकतानुसार राहत शिविर चलाए जा रहे हैं। समस्तीपुर में 05 और खगड़िया में एक राहत शिविर चलाए जा रहे हैं। इन सभी 06 राहत शिविरों में कुल 5,186 लोग आवासित हैं। 156 कम्युनिटी किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 1,26,085 लोग भोजन कर रहे हैं। सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में एन0डी0आर0एफ0 और एस0डी0आर0एफ0 की टीमें राहत एवं बचाव का कार्य कर रही हैं और अब तक प्रभावित इलाकों से एन0डी0आर0एफ0, एस0डी0आर0एफ0 और बोट्स के माध्यम से 5,50,792 लोगों को निष्क्रमित किया गया है। उन्होंने बताया कि अब तक बाढ़ प्रभावित 10,70,678 परिवारों के बैंक खाते में प्रति परिवार 6,000 रुपये की दर से कुल 642.41 करोड़ रुपये जी0आर0 की राशि भेजी जा चुकी है। सभी लाभान्वित परिवारों को एस0एम0एस0 के माध्यम से सूचित भी किया गया है। आपदा प्रबंधन विभाग संपूर्ण स्थिति पर लगातार निगरानी रख रहा है।

Leave a Comment