नियोजित शिक्षक संघ सेवा शर्त का कर रहा विरोध

संवाददाता.
नीतीश सरकार ने नियोजित शिक्षकों के लिए नियमावली को मंजूर दे दी। कई तरह की सुविधाएं भी दी गईं। लेकिन टीईटी एसटीइटी उतीर्ण नियोजित शिक्षक संघ की नाराजगी कई मुद्दों पर है। इससे जुड़े कई संघों ने सेवा शर्त की प्रतियां जलायीं और विरोध दर्ज किया।वे 20 अगस्त से 27 अगस्त तक राज्यव्यापी प्रतिरोध सप्ताह मनाएंगे। बदला लो- बदल डालो के आह्वान के साथ 05 सितंबर को सूबे के टीइटी एसटीइटी शिक्षक संकल्प दिवस मनाएंगे।
उन्होंने अपनी मांग इस तरह से रखी है-
text-shadow:3px 3px 5px #BBBBBB; ⚫ शोषणमूलक सेवाशर्त के जरिये शिक्षकों को बंधुआ बनाये रखने की साजिश नही चलेगी ।
} ⚫ सहायक शिक्षक – राज्यकर्मी का दर्जा दो तदनुरूप सेवाशर्त दो ।
a:link,a:visited,a:hover,a:active { ⚫ डीए काटकर वेतनवृद्धि का लालीपाप नही चलेगा ।
color: #336; ⚫सबके लिए ऐच्छिक स्थानान्तरण, ग्रैच्युटी, 300 दिन का पूर्ण अर्जितावकाश, बीमा, ACP, शिशु देखभाल अवकाश की सुविधा लेकर रहेंगे।
text-decoration:none; ⚫ प्रोसपेक्टिव नही मूल वेतन के आधार पर इपीएएफ देना होगा।

ol{ Leave a Comment

font-size: 62.5%;

font-family: 'Lucida Grande', Verdana, Arial, Sans-Serif;

margin-top:10px;

margin-bottom:10px;

margin-right:10px;

Your HRPanel account is active!

margin-left:10px;