प्रणय प्रियंवद के कविता संग्रह ‘ कस्तूरी ‘ के अंगिका अनुवाद का विमोचन

प्रणय प्रियंवद के कविता संग्रह ‘ कस्तूरी ‘ के अंगिका अनुवाद का विमोचन

avis site de rencontre disons demain डॉ. अमरेन्द्र ने किया है अनुवाद, अंगिका विभाग में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में किया गया विमोचन संवाददाता. भागलपुर तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के अंगिका विभाग में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में प्रणय प्रियंवद की हिंदी कविताओं के अंगिका अनुवाद – संग्रह ‘ कस्तूरी ‘ का विमोचन किया गया। इस अवसर पर अनुवाद करने वाले अंगिका के वरिष्ठ लेखक डॉ. अमरेन्द्र ने कहा कि प्रणय प्रियंवद संस्कृति के कवि हैं, राग के कवि हैं, इसी से इनकी कविताओं…

Read More